April 13, 2024

139.91666666667 °C

RashtriyaEkta - 26-02-2024

Breaking News: संगीत जगत में शोक की लहर, 'च‍िट्ठी आई है' गाने वाले मशहूर गजल सम्राट पंकज उधास का निधन

नई दिल्ली। एंटरटेनमेंट जगत से बुरी खबर सामने आई है। विख्यात ग़ज़ल गायक पंकज उधास का 26 फरवरी को निधन हो गया। वह 72 वर्ष के थे। उनके निधन से संगीत जगत में शोक की लहर छा गई है। उधास जी लंबे समय से बीमार चल रहे थे। उनका निधन मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल में हुआ। वो अपनी आवाज से लाखों दिलों पर राज करते थे। 17 मई 1951 को उनका जन्म गुजरात के जेतपुर में हुआ था। वो अपने तीन भाइयों में सबसे छोटे थे। उनका अंतिम संस्कार मंगलवार को किया जाएगा। 

पंकज उधास ने 1980 में अपना पहला ग़ज़ल एल्बम "आहट" रिलीज़ किया और उसके बाद कई सफल एल्बम जारी किए, जिनमें "मुकरार", "तराना", "मेहफिल" शामिल हैं। उन्होंने कई हिंदी फिल्मों के लिए भी गाया, जिनमें "नाम", "साजन", "ये दिल्लगी" और "फिर तेरी कहानी याद आई" शामिल हैं। उन्हें 2006 में भारत के चौथे सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्म श्री से सम्मानित किया गया था।

पंकज उधास को उनकी मधुर आवाज और भावपूर्ण गायन के लिए जाना जाता था। उनके गीतों ने लाखों लोगों के दिलों को छुआ है। उनके निधन से भारतीय संगीत जगत को अपूरणीय क्षति हुई है। पंकज उधास का निधन संगीत जगत के लिए एक बड़ी क्षति है। उनकी आवाज और उनके गीत हमेशा याद किए जाएंगे। सिंगर और म्यूजिक कंपोजर शंकर महादेवन सदमे में हैं. उनके मुताबिक, पंकज का जाना म्यूजित जगत के लिए बड़ा नुकसान बताया है। जिसकी कभी भरपाई नहीं हो सकती। 

और पढ़ेंकम दिखाएँ

© Rashtiya Ekta! Design & Developed by CodersVision